आने वाले समय मे आपका चेहरा ही आपका पासपोर्ट होगा !!

ऑस्ट्रेलिया में ट्रेवल करना बहुत थकाने वाला होता है हर कोई जो ऑस्ट्रेलिया जैसी जगज पर ट्रेवल करता है उसे ये बात पता है । लॉस angeles से सिडनी आने में 13 घण्टे लगते है यानी अगर आप फ्लाइट से आते है तो 1आप 13 घण्टे तक हवाई सफर करेंगे । 5 घण्टे ज्यादा और लगेंगे अगर आप न्यूयॉर्क जाना चाहते है तो । लेकिन वही आप लंदन से आ रहे है तो जनाब आपको कम से कम 1 दिन लगेगा जमीन पर पैर रखने के लिए यानी पूरे दिन का सफर । अब बात आती है कि आप ट्रेवल करके इतना थक जाओगे की आप जल्द से जल्द एयरपोर्ट से निकलने की कोशिश करोगे और आप वहां के खुले बीच मे जाना चाहोगे ।
अब ऑस्ट्रेलिया के डिपार्टमेंट टेक्नोलॉजी पर ज्यादा ध्यान दे रहे है इसलिए ही उन्होंने स्मार्ट गेट्स की खोज करि जो कि आपका पासपोर्ट रीड करेंगे , आपका फेस स्कैन करेंगे , और आप कौन हो ये identify करेंगे । ये पुर्तगाल विज़न बॉक्स के द्वारा निर्मित एक डिवाइस होगा । अब गेट आपको आसानी से एयरपोर्ट के भार जाने देंगे वो भी बिना किसी रुकावट के । यानी आपके कम्फर्ट जोन देने के लिए बहुत अच्छी टेक्नोलॉजी आ रही है । ऑस्ट्रेलिया प्रोसेस को बहुत फ़ास्ट करना चाहती है और वो कर भी रही ही । मई के दौरान 2017 में कंट्री ने पहला कॉन्टैक्टलेस इमीग्रेशन टेक्नोलॉजी को टेस्ट कराया कैनबेरा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के ऊपर । अब इससे आप कैमरे के सामने खड़े होने के बाद ही एयरपोर्ट से बाहर निकल पाएंगे । stored डाटा की मदत से किसी भी इंसान की पहचान होगी ।
बॉयोमीट्रिक्स सिर्फ यहां ही काम नही आ रही बल्कि सिडनी एयरपोर्ट ने इसको लेकर काफी काम भी शुरू कर दिया है ।
इन्होंने सबसे बड़ी एयरलाइन से मिलकर ये काम किया है ताकि डिपार्चर प्रोसेस को आसान बनाया जा सके । अब सबसे पहले किसी भी बंधे को खुदका और पासपोर्ट को स्कैन कराना है उसके बाद आपको बार बार स्कैन कराने की जरूरत नही होगी बस आपके चेहरे से ही आपकी जानकारी निकल जायेगी ।

एक बार ही करना होगा रजिस्टर

जी हां दोस्तो आपको बस एक बार ही रजिस्टर करना होगा उसके बाद आपको कीओस्क मशीन अपने आप डिटेक्ट कर लेगी । ये मशीन आने वाले समय मे काफी उपयोग में आने वाली है । फिलहाल इसकी चर्चा भारत में नही हुई है ।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *