सुरंग से आता जाता था,4 घंटे फायरिंग के बाद मारा गया आतंकी नायकू, परिवार को नहीं सौंपा जाएगा शव

0
3021

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सेना के जवानों की शहादत का बदला सुरक्षाबलों ने ले लिया है। सेना ने कश्मीर के मोस्ट वॉन्टेड आतंकवादी और हिज्बुल मुजाहिद्दीन के टॉप कमांडर रियाज नायकू को मार गिराया। नायकू का शव उसके परिवार को नहीं सौंपा जाएगा। बल्कि परिवार की मौजूदगी में शव को दफनाया जाएगा। नायकू के ऊपर सेना ने 12 लाख रुपए का इनाम रखा था। बताया जा रहा है कि उसने अपने घर तक आने-जाने के लिए सुरंग बना रखी थीं। सेना ने विस्फोटक से घर उड़ा दिया और जो सुरंग उसने जान बचाने के लिए खोदी थी उसी में उसकी कब्र बन गई।

5 से ज्यादा घंटे बाद हुई पहचान

रियाज नायकू की पहचान को लेकर सेना आश्वस्त होना चाहती थी, इसलिए साढ़े पांच घंटे तक पहचान की गई। सबसे पहले उसके शरीर के निशानों को देखा गया। फिर पुलिस, सीआरपीएफ,सेना, आईबी ने और अंत में स्थानीय लोगों से उसकी पहचान कराई गई। उसके बाद रियाज के मारे जाने की सूचना बाहर आई।
24 घंटे में 4 आतंकियों को मार गिराया
सुरक्षाबलों ने 24 घंटे में घाटी में 4 आतंकियों को मार गिराया। कोई स्थानीय नागरिक इसमें घायल नहीं हुआ। आतंकियों से मुठभेड़ सुबह 9.30 बजे शुरू हुई। चार घंटे तक लगातार फायर फाइट के बाद रियाज नायकू मारा गया।

कौन था रियाज नायकू

हिज्बुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडर रियाज नायकू पर भारतीय सेना ने 12 लाख रुपये का इनाम रखा था। उसने घाटी में लंबे समय से दहशत फैला रखी थी। सब्जार बट की मौत के बाद रियाज को हिज्बुल का कमांडर बनाया गया था।
बुरहान के बाद घाटी में आतंक का नया पोस्टर ब्वॉय
बुरहान वानी के बाद वह घाटी में आतंक का नया पोस्टर ब्वॉय बन गया था। रियाज बुरहान वानी के कोर ग्रुप का मेंबर था और बुरहान के मारे जाने के बाद उसे ही टॉप कमांडर बनाए जाने की चर्चा थी। पिछले साल उसने धमकी भरा ऑडियो जारी किया था। वीडियो में उसने घाटी में जेल स्टाफ पर हमले की धमकी दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here